Stock Market kya hai ? | जानिए शेयर मार्किट क्या है।

Rate this post

दोस्तों आप लोगो को बात करते हुए सुना होगा आज शेयर मार्किट बहुत अच्छा था या फिर आज मार्किट गिर गया आखिर ये Stock Market kya hai ? बहुत लोग कहते है स्टॉक मार्किट जुआ है पैसा इन्वेस्ट करो गे दुब जाएगा। ऐसे बहुत सी बाते सुना होगा आज हम विस्तार से जाने गए स्टॉक /शेयर मार्किट क्या है।

stock market kay hai

Stock Market kya hai ?

स्टॉक मार्किट या शेयर मार्किट एक ऐसे मार्किट है जहा आप लिस्टिंग कम्पनीज का शेयर खरीद अथवा बेच सकते है शेयर खरीदते ही आप जिनते पैसे का शेयर खरीदते है उसी परसेंट % के हिसाब से कंपनी में आपकी भी हिस्सेदारी हो जाती है अब कंपनी में प्रॉफिट होगा तो आपका भी प्रॉफिट होगा यदि लोस्स होगा तो आपका भी लोस्स होगा।


शेयर मार्किट में प्रत्येक कंपनी के शेयर का मार्किट प्राइस होता है हलाकि ये हर सेकंड कम ज्यादा होता रहता है मार्किट टाइम में ही आप शेयर खरीद और बेच सकते है सुबह 9.15 AM से 3.30 PM तक आप भारत में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) इन दो एक्सचेन्जो में आप निर्धारित समय में शेयर खरीद अथवा बेच सकते है।

Stock Market कितने प्रकार का होता है

स्टॉक मार्किट दो प्रकार का होता है

  1. प्राइमरी शेयर मार्किट (Primary Market )
  2. सेकेंडरी मार्किट (Secondary Market )

प्राइमरी शेयर मार्किट (Primary Market )

जब कोई कंपनी शेयरों के माध्यम से धन जुटाने के लिए पहली बार स्टॉक एक्सचेंज में खुद को लिस्टिंग करती है, तो वह प्राइमरी मार्किट में प्रवेश करती है। इसे एक इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) कहा जाता है, जिसके बाद कंपनी publically स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हो जाती है और इसके शेयरों का मार्किट में खरीद अथवा बेच सकते है

सेकेंडरी मार्किट (Secondary Market )

एक बार जब कंपनी प्राइमरी मार्किट से सेकेंडरी मार्किट में लिस्ट हो जाती है, तो उसी को सेकेंडरी मार्किट में कारोबार किया जाता है। यहां निवेशकों को मार्किट की मौजूदा कीमतों पर आपस में शेयर खरीदने और बेचने का मौका मिलता है। आमतौर पर निवेशक इन लेन-देन को ब्रोकर (जैसे Zerodha ,Upstock आदि ) या अन्य ऐसे मीडियम के माध्यम से शेयर ट्रेड करते हैं

Stock Market में क्या (Sell और Buy ) ट्रेड कर सकते है।

बेसिकाली चार कैटोगरी में स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेड कर सकते है।

शेयर (shares)

एक शेयर कंपनी के इक्विटी ओनरशिप की इकाई को रिप्रेजेंट करता है कंपनी को प्रॉफिट होने पर शेयरहोल्डर को भी प्रॉफिट होता है बहुत सी कम्पनिया अपने प्रॉफिट के कुछ हिस्से को अपने शरहोल्डर्स को dividend के रूप में देती है लोस्स होने पर शरहोल्डर्स का भी लोस्स होता है।

Bonds

ज्यादा समय और लाभदायक परियोजनाओं को शुरू करने के लिए, एक कंपनी को पर्याप्त कैपिटल की आवश्यकता होती है। कैपिटल जुटाने का एक तरीका जनता को बांड जारी करना है। ये बांड कंपनी द्वारा लिए गए लोन (loan) को रिप्रेजेंट करते हैं। बांडधारक कंपनी के लेनदार बन जाते हैं और कूपन के रूप में समय पर ब्याज भुगतान प्राप्त करते हैं। बांडधारकों के दृष्टिकोण से, ये बांड निश्चित आय के साधन के रूप में कार्य करते हैं, जहां वे निर्धारित अवधि के अंत में अपने निवेश के साथ-साथ उनकी निवेशित राशि पर ब्याज प्राप्त करते हैं।

Mutual Funds

म्युचुअल फंड प्रोफेशनल रूप से मैनेज फंड होते हैं जो कई निवेशकों के पैसे को जमा करते हैं और सामूहिक कैपिटल को प्रत्येक फाइनेंसियल सिक्योरिटीज में निवेश करते हैं। आप कुछ नाम रखने के लिए इक्विटी, debt, या हाइब्रिड फंड जैसे विभिन्न वित्तीय साधनों के लिए म्यूचुअल फंड ढूंढ सकते हैं।

प्रत्येक म्यूचुअल फंड योजना एक शेयर के समान एक निश्चित मूल्य की इकाइयाँ जारी करती है। जब आप ऐसे फंड में निवेश करते हैं, तो आप उस म्यूचुअल फंड स्कीम में यूनिट होल्डर बन जाते हैं। जब उस म्यूचुअल फंड योजना का हिस्सा होने वाले उपकरण समय के साथ राजस्व अर्जित करते हैं, तो यूनिट-धारक को वह राजस्व प्राप्त होता है जो फंड के शुद्ध परिसंपत्ति मूल्य के रूप में या लाभांश भुगतान के रूप में रिफ्लेक्ट होता है।

डेरीवेटिव (Derivative)

डेरिवेटिव एक सुरक्षा है जो एक अंतर्निहित सुरक्षा से अपना मूल्य प्राप्त करती है। इसकी एक विस्तृत विविधता हो सकती है जैसे शेयर, बॉन्ड, करेंसी, कमोडिटी और बहुत कुछ! डेरिवेटिव के खरीदार और विक्रेता किसी परिसंपत्ति की कीमत की अपेक्षाओं का विरोध करते हैं, और इसलिए, भविष्य की कीमत के संबंध में ” बेटिंग कॉन्ट्रैक्ट ” में प्रवेश करते हैं।

Conclusion

उम्मीद है दोस्तों आप लोगो को समझमे आ गया होगा की stock market kya hai ? स्टॉक मार्किट एक बिज़नेस है इसको अच्छी तरह से सिख कर आप मालामाल हो सकते है। आप अपना मंथली इनकम स्टॉक मार्किट से ट्रेड करके ले सकते है। अगर आपको आर्टिकल पसंद होतो अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे धनवाद।

शेयर मार्केट की शुरुआत कैसे करे?

आप शेयर मार्किट शुरुआत और स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना चाहते हैं, तो आपको प्रॉपर नॉलेज के साथ ट्रेड करना होगा अन्यथा ये उतार-चढ़ाव मार्किट आपके पोर्टफोलियो को गंभीरता से प्रभावित कर सकते हैं. जब तक आप किसी रणनीति के साथ ट्रेड नहीं करते हैं, तब तक आपको नुकसान भी हो सकता है.

शेयर मार्केट में नुकसान कैसे होता है?

जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते है तो आप उस कंपनी में हिस्सेदार हो जाते है इससे जब कंपनी प्रॉफिट में रहती है तो आपका प्रॉफिट होता है और अगर लोस्स रहता है तो आपका लोस्स होता है।

Leave a comment